मनरेगा को लेकर जिला स्तरीय कार्यशाला का आयोजन

photo-03photo-0228 जनवरी झाबुआपोस्ट ।  जिला स्तरीय कार्यषाला का किया गया आयोजन, दो सत्रों मंे हुई कार्यषाला, विभिन्न स्वयं सेवी संस्थाओं के पदाधिकारियों ने लिया हिस्सा

झाबुआ। आदिवासी चेतना शिक्षण सेवा समिति झाबुआ द्वारा समर्थन संस्था के सहयोग से पेक्स परियोजना के तहत जिला स्तरीय कार्यशाला का आयोजन बुधवार को स्थानीय शांति निकेतन सभा गृह में किया गया। जिसमें विशेष रूप से समर्थन संस्था भोपाल से आए ईजहारउद्दीन कुरैशी उपस्थित थे। इसके अलावा अन्य अतिथियों में ब्रीड फॉर ट्रेड संस्था के कृष्णसिंह बामनिया, वरिष्ठ पत्रकार दिलीप वर्मा, सर्व हितैषी षिक्षण समिति के अजरउल्लाह खान उपस्थित थे।

कार्यशाला के प्रारंभ में इसके उद्देश्य के बारे में जानकारी चेतना शिक्षण सेवा समिति के साकिरभाई द्वारा दी गई। इसके पश्चात् कार्यशाला को संबोधित करते हुए वक्ता के रूप में उपस्थित भोपाल से आए श्री कुरैशी ने बताया कि मनरेगा योजना के कार्यों के प्रभावी क्रियान्वयन के लिए ग्रामीणों को जागरूक होना होगा। मनरेगा में आवश्कता के आधार काम प्राप्त करने के लिए हमे अपने गांव के ग्रामीणों को प्रेरित करना होगा।

हक से मांगना होगा काम

श्री कुरैषी ने बताया कि प्रायः यह देखा जाता है कि ग्राम पंचायत मंे ग्रामीणों को इस योजना में कार्य दिलाने का जिम्मा सरपंच एवं सचिव के हाथ में होता है, लेकिन उनके द्वारा योजना के क्रियान्वयन मंे लापरवाही बरती जाती है तो हमे इस योजना मंे जागरूक होकर अपना काम एवं अपना हक मांगना होगा। इस योजना का भरपूर लाभ उठाना होगा। उन्होंने ग्रामीणों की जीवन शैली के बारे में भी बताया।

गांववासियों को करना होगा प्रेरित

श्री कुरैषी ने आगे कहा कि इस योजना के लाभ के लिए हमे गांववासियों को प्रेरित करना होगा। गांव में जो ग्राम सभाएं होती है, उसमें हिस्सा लेकर इस योजना के बारे में जानकारी प्राप्त करना होगी। इस योजना का बढ़-चढ़कर लाभ लेना होगा। अगर ग्राम सभाएं नहीं होती है तो ग्राम सभा के आयोजन के लिए सरपंच एवं सचिव को बाध्य करना पड़ेगा। यदि हम जागरूक होंगे तो हमे इस योजना का भरपूर लाभ मिल सकेगा।

ग्रामीण जीवन के बारे में दी जानकारी

कार्यषाला में अतिथि के रूप मंे उपस्थित वरिष्ठ पत्रकार श्री वर्मा ने ग्रामीण जीवन के बारे में बताया। उन्होंने बताया कि आज ग्रामीण अंचलों में लगभग 85 प्रतिषत ग्रामीण तो जागरूक हो गए है और शासकीय योजनाओं का बढ-चढ़कर लाभ लेने लगे है, लेकिन 15 प्रतिषत ग्रामीण आज भी ऐसे है, जो षिक्षा से वंचित है। षिक्षा एवं जागरूकता के अभाव मंे वे योजनाओं का लाभ नहीं ले पाते है। साफ-सफाई का विषेष ध्यान नहीं रखते है। आज हम जो ग्रामीण कार्यषाला में उपस्थित है, वे यह संकल्प ले कि हम अपने गांव में ऐसे ग्रामीणों को भी जागरूक करेंगे जो जागरूक नहीं है एवं षिक्षा से वंचित है। ब्रीड फाॅर ट्रेड संस्था के श्री बामनिया ने बताया कि उनके गांव में महिला सरपंच बनी है। जिसके द्वारा मनेरगा योजना का ग्रामीणों को अधिक से अधिक लाभ दिलवाया जाएगा।

ग्रामीणों ने दूर की जिज्ञासाएं

कार्यषाला में उपस्थित ग्रामीणों ने भी अपनी जिज्ञासाएं दूर की। ग्रामीणों ने मनरेगा के बारे में उपस्थित वक्ता एवं अतिथियों से पूछकर जानकारी प्राप्त की। इस योजना में मिलने वाले लाभ एवं योजना में अपनी आवष्यकतानुसार किस तरह कार्य मांगा जाए तथा इस योजना के कार्य के बारे में पूछकर अपनी दुविधाओं को भी समाप्त किया। इस अवसर पर चेतन्य समाहित सामाजिक संस्था के रामप्रसाद वर्मा, पप्पू वाखला आदि ने भी उपस्थित ग्रामीणजनों को योजना के बारे में आवष्यक जानकारी दी एवं उनके प्रयासों से गांवों में हुए विकास के बारे में भी बताया।

दो सत्रों में हुई कार्यषाला

कार्यषाला दोपहर लगभग साढ़े 11 बजे आरंभ हुई। यह दो सत्रों में हुई। प्रथम सत्र लगभग ढ़ाई बजे तक चला। इसके पश्चात् दूसरा सत्र शुरू हुआ। इस अवसर पर एकता युवा मंडल कल्याणपुरा के ऋषभ सुराना, संस्कृति युवा मंडल भगौर के राजेष बैरागी के अलावा बड़ी संख्या में ग्रामीणजन उपस्थित थे।

Advertisements

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out /  Change )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out /  Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out /  Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out /  Change )

Connecting to %s

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.