19 जुलाई से झाबुआ में जमकर बरसेंगे बदरा, मौसम वैज्ञानिकों का अनुमान ।

m2झाबुआ पोस्ट । के. उपाध्याय की रिपोर्ट ।  मानूसन के देश में अलग-अलग रूप नजर आ रहे हैं, कहीं बदरा जमकर बरस रहे हैं तो कही अब भी बेसब्री से इंतजार हो रहा है । झाबुआ जिले की बात करे तो यहां मानसून की खेंच से किसान ही नहीं आमजन भी चिंतित है ।  फसलें मुरझा रही है, अगर जल्द बारिश नहीं हुई तो दोबारा बोवनी भी करनी पड़ सकती है ।

 ऐसे हालातों में अच्छी खबर ये हैं कि जिले में जल्द ही जोरदार बारिश की  संभावना है । मौसम विज्ञान केन्द्र के तकनीकी सलाहकार डॉ. त्रिपाठी के मुताबिक उड़ीसा और बंगाल की खाड़ी में दबाव बन रहा है, 19-20 जुलाई से जिले में जोरदार बारिश की संभावना है ।

   बारिश की खेंच से लोगों की चिंताएं बढ़ा दी हैं । जिले की अर्थव्यवस्था में मानसून और फसल दो अहम पहलू हैं । मानसून अच्छा तो फसल भी अच्छी और उसके बाद व्यापार भी । लेकिन मानसून की बेरूखी ने किसानों और व्यापारियों के माथे पर सिकन ला दी है । आधा आषाड़ बीत चुका है, पंद्रह दिन बाद श्रावण मास शुरू हो जाएगा । लेकिन अब तक धरती प्यासी है । पूरे जिले में बोवनी की जा चुकी है, ऐसे में फसलों के मुरझाने का खतरा मंडरा रहा है ।

m1

उड़ीसा और बंगाल की खाड़ी में सिस्टम बन रहा है । 19 जुलाई के आसपास जिले में जोरदार बारिश के आसार हैं । पहले बंगाल की खाड़ी में बनने वाला सिस्टम जिले में दस्तक दे सकता है । डॉ. आर.के.त्रिपाठी, मौसम वैज्ञानिक

बारिश के लिए लोग तरह के जतन कर रहे हैं, कहीं घरों के बाहर भोजन पकाकर उजमनी मना रहे हैं , तो कहीं हनुमान चालीसा का पाठ किया जा रहा है । इंद्र देवता को मनाने के लिए हवन भी किए जा रहे हैं । कुछ जगहों पर  बारिश के लिए भगवान शिव को ही जलमग्न कर दिया । तो कहीं बारिश के टोटके के रूप में जिंदा आदमी की अर्थी निकाली जा रही है  ।  अच्छा मानसून ही जिले की अर्थव्यवस्था की रीढ़ की हड्डी है । मानसून की बेरूखी अंचल में चोरी, लटू जैसी आपराधिक गतिविधियों को बढ़ा सकती है । पिछले एक माह में कई बड़ी बारदातें हो भी चुकी हैं । फिलहाल तो इस वक्त हर नागरिक यही उम्मीद कर रहा है जो अनुमान मौसम वैज्ञानिक लगा रहे हैं उसके मुताबिक बरसात हो जाए तो मुरझाई फसलों से साथ-साथ मुरझाए चेहरों पर भी रौनक लौट आएगी ।  

Advertisements


Categories: खेती-किसानी

Tags: , , ,

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out /  Change )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out /  Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out /  Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out /  Change )

Connecting to %s

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

%d bloggers like this: