हमसे ज्यादा वेतन तो चतुर्थ श्रेणी कर्मचारी का है !

jhabuapost@gmail.com । आशीष पांडे । 8817029231 ।

Snapshot 1 (11-02-2016 17-16)जो वेतन मिलता है वो पंचायत से जनपद के चक्कर लगाते-लगाते ही पेट्रोल में ही खत्म हो जाता है, फिर बच्चों को क्या खिलाएं और क्या पढ़ाएं ?  अधिकारियों से निवेदन करते हैं कि क्या वे अपने बच्चों को ऐसी हालत में देख सकते हैं, चतुर्थ श्रेणी कर्मचारियों का वेतन हमसे ज्यादा है ।

ये दर्द है रोजगार सहायकों जो पिछली 8 फरवरी से कलमबंद हड़ताल पर बैठे हैं । रोजगार सहायकों की मांग हैं कि उन्हें नियमित किया जाना चाहिए । शासन की दर्जन भर से ज्यादा योजनाओं को संचालित करने का भार उन पर हैं । मनरेगा और ऑनलाईन सेवाएं रोजगार सहायकों के जिम्मे हैं । जितना वेतन मिलता है, वो पंचायत से जनपद तक जानकारी पहुंचाने में पेट्रोल में ही खर्च हो जाता है । ऐसे में रोजगार सहायकों के सामने विषम परिस्थितियों में जीवन यापन कर रहे हैं, ऐसे में सरकार उनकी मांग को गंभीरता से लेना चाहिए । रोजगार सहायक संगठन के धर्मेन्द्र भूरिया, झांजूसिंह कटारा, दुलेसिंह मेड़ा आदि ने शासन से मांग की है कि जल्द से जल्द उनकी मांगों को पूरा किया जाए । फिलहाल रोजगार सहायक 14 फरवरी तक कलमबंद हड़ताल पर हैं, लेकिन मांगों पर ध्यान नहीं दिया गया तो वे 23 फरवरी से अनिश्चितकालीन हड़ताल पर उतरेंगे ।

 

Advertisements


Categories: झाबुआ

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out /  Change )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out /  Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out /  Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out /  Change )

Connecting to %s

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

%d bloggers like this: