चला हथौड़ा, टूटी दीवार, खुल गया रास्ता !

This slideshow requires JavaScript.

jhabuapost@gmail.com । आशीष पांडे ।

जनता के दबाव के आगे आखिरकार प्रशासन को झुकना ही पड़ा, अड़ियल रूख के कारण जो रास्ता बंद किया गया था , उसे खोल दिया गया है । दो पहिया वाहनों के निकलने के लिए जगह बना दी गई है ।   प्रशासन ने जो दीवार खड़ी करवाई थी, उस पर गुरूवार को दिल पर पत्थर रखकर हथौड़ा चलाकर दोपहिया वाहनों को रास्ता देना पड़ा । पिछले महीने  कलेक्टर ऑफिस से बस स्टैंड की ओर जाने वाले रास्ते पर दीवार खड़ी करवा दी थी । लोगों ने निवेदन किया, ज्ञापन सौंपा पर कुछ काम ना आया । महीने भर तक लोग परेशान होते रहे । मामला प्रभारी मंत्री तक पहुंचा, जिसके बाद इस  दीवार का कुछ हिस्सा गिराकर पैदल यात्री और दो पहिया वाहनों के निकलने की जगह बनाई गई ।

लेकिन सवाल ये भी ऐसे अदूरदर्शी, जनता को परेशान  करने वाले, तुगलकी फरमानों का क्या मतलब । जिनसे खुद के अहम अलावा दूसरा कोई सतुंष्ट ना हो । रास्ते पर दीवार खड़ी करवा कर लोगों की हाय लगी कलेक्टर साहिबा को , तो दीवार पर हथौड़ा चलाकर दुआएं मिली प्रभारी कलेक्टर साहब को ।  खासकर जिला मुख्यालय पर दूर-दराज के ग्रामीण इलाकों से आने वाला आम आदमी काफी खुश है । वहीं स्कूली बच्चों , कोर्ट कर्मचारियों, कलेक्टर ऑफिस के कर्मचारियों की भी परेशानी कम हो गई है । क्योंकि पहले करीब 2 किमी. का चक्कर लगाकर बस स्टैंड से कलेक्टर ऑफिस आना पड़ता था ।  लेकिन अभी कुछ और रास्ते हैं जिनमें अधिकारियों के गुरूर बंधे हुए हैं, ऐसे रास्तों पर भी आमलोगों के लिए हथौड़े चलाने की दरकार है ।

Advertisements


Categories: झाबुआ

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out /  Change )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out /  Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out /  Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out /  Change )

Connecting to %s

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

%d bloggers like this: