मालवी जूतो । वात पल्ले नी पड़ी- अनुभूति पार्क ।

malvi juto

jhabuapost@gmail.com

रातें रवड़ता-रवड़ता तीन चार लोगों रोट्या पचावा निकली जांवा, ने फेर आई ने बस स्टैंड पर कन्नू भई की दुकान चाय मार ला तो थोड़ों ठीक लागे । 5-6 बाईयां मिल जाए तो, वाता-वाता में घर का ठामड़ा-ठिकरा सब रो हिसाब वई जाए , ने ऐरी मां ने, वेरी मां ने,  वणी री मां री मां सब कथा-पुराण चालू वई जाएsss ।

पण आदमी लोगा रो ऐसो नी है, आदमी लोग मले जद केsss तो खावा पिवा री बात करें, औऱ नी तो फेर ज्ञान को रायतो खूब फैलावे । सब एक दूसरा से परम ज्ञानी वतड़ावा की खूब कोशिश करे । पर आपणा ने भी मालम रे के कुण कतरो चतरो है ।  है के नी ।

चाय गटकी रा था,वाता चाली री थी,  अतरे हमारा भेरूलाल भाईसाहब के हाथ अखबार लग ग्यो, जिनमें लिख्यों थो के

होशंगाबाद की तर्ज पर झाबुआ में भी बनेगा अनुभूति पार्क ।

भाई ए पढ़यो ने सब ने बताड़ियो, बस फेर कईं ढुलवा लागो रायतो….एक हमारो व्यास जी दादो बोल्यो कि ई तो सब लोगा ने बेवकुफ बणावा री स्कीम है, सब पैसा खईजागा, बापड़ा जो शरीर ती लाचार है वणा रा प्रमाण पत्र बणी नी रा, वी रोज कलेक्टर ऑफिस रा चक्कर काटी रा, कणी ने पेंशन नी मली , तो कोई दिव्यांग आदमी,  रोजी-रोटी हारू लोन लेवा पक्तियां ऊपर नीचे चढ़ी रो उतरी रो । सब फालतू वात है । लोगा हारू शहर मे एक भी बगीचों ढंग को कोनी, सरकार ने वा हमज नी पड़ री, ने गाम बारते नवा सर ती काम करेगा । लोग कई गेलिया है ।

अतरा में हमारा एक और परम ज्ञानवान पाटीदार बा बोल्या, व्यास जी तम रेवा दो, ऐसो नी है, वात तो या है कि दिव्यांग हारू काम करवा पर होशगांबाद वारा कलेक्टर ने दिल्ली में ईनाम मल्यो, तारीफ बी खूब वी ।  तो आपना या रा भी अधिकारी होची रा कि आपणे वणी की नकल करी ने थोड़ो तो सरकारी कागजिया में थोड़ो हाऊ काम लिखाड़ी दां, गाम री जनता यूं भी आपणे चाई नी री,  मन् तो लागे की  अणा साबड़ा रे पछाड़ी दो तीन गरम केटलिया है , वणाएज या स्कीम वताड़ी वेगा ।

हमारा भेरू बा के वात गले नी उतरी, बोल्या कि नाम कमाणो है तो अतरो खर्चो करवा की कई जरूरत, आपणे झाबुआ में कतरा बगीचा है, एक भी काम रो नी रेवा द्यो नगरपालिका ऐ । अणामें से कोई अनुभूति पार्क वणई तो कई तकलीफ । सिटी री थोड़ी शान भी आई जाएगा । ने  जनता रो आदो पईसो भी वंचेगा ।

वच में पाटीदार बा बोल्या अरे मैं तो कू के कई जरूरत है अनुभूति पार्क वणावा री, पेला वणा लोगों री जो मैन जरूरत है वी तो पूरी करो, हाल मालम कोनी कि आपणा जिला में कतरा दिव्यांग जणा है, ई लोग के के 8 हजार वेगा , अतरा लोग आया अनुभूति शिविर में, पर या वात मानवा में आवे कई कि जिला में अतरा ज दिव्यांग है, कतराई  लोगा ने तो हाल मालम कोनी की वणा वस्ते कई योजना है, हाल तक लोगों ने साईकिला नी वांटी, दूसरो सामान नी मल्यो , प्रमाण पत्र हारू लोग अई-वई रोज चक्कर काटे, रंगपुरा जावे तो के, ऑफिस में जाओ, ऑफिस में जावे तो के जनपद जाओ, जनपद जावे तो के सचिव ती मिलो, सचिव के के मार कने कई कोनी बाबाजी रो ठुल्लू, तम झाबा जाओ ।  अरे सब चक्कर पे चक्कर है व्यास जी सई कई रा । ई सब ऊंट पर बैठी ने बकरी चरावे साब । आगे-पाछे रो कणी ने ध्यान कोनी ।

व्यास जी बोल्या वच में, दूसरा का दुख में आपणे क्यों दुबला वरी रा यार भईसाब, जणी ने कमीशन मिलनो वेगा मिलेगा, जणी ने फायदों उठाणो वेगा उठावेगा, अनुभूति पार्क वणनो वेगा तो वणेगा, आज कठे वणी रो ।

पाटीदार बा बोल्या के- पर भईसाब आपणे तो वात करी रा, किने केवा थोड़ी जाई रा कई, ने कूण हुणेगा आपणी, या तो वात निकरी तो सब ए आपणो-आपणो सजेशन रखी दिदो ।  पर एक वात है कि अणी पार्क से ज्यादा जरूरी वणा रो सामान और पेंशन है, उ टाईम पर मिलनो चीये पर कां मली रो, अबे रेवा दो नरी वाता है…दन उगी जागा,  आपणे घर चालो पूणा ग्यारा (10.45 ) वईगी, घरे लोगई दरवाजो नी खोलेगा तो पड़ता पाणी में कां जावंगा । 

Advertisements


Categories: खास ख़बर, झाबुआ, प्रदेश, मालवी जुतो, jhabua

Tags: , , , , , , , , , , , , , , ,

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out /  Change )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out /  Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out /  Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out /  Change )

Connecting to %s

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

%d bloggers like this: