Watch “रिश्वतखोर पटवारी रंगेहाथ धराया !” on YouTube

अगर आपके पास भी है कोई खबर, सूचना या जानकारी, या आपके पास की घटना खबर के वीडियो फोटो हम तक पहुंचाना चाहते हैं तो वाट्सएफ करें – अंकित जैन, ब्यूरो 9009305600 पर या मेल करें jhabupost@gmail.com

 

 

Advertisements

Watch “दिनदहाड़े व्यापारी का गल्ला ले भागे बदमाश,सीसीटीवी में कैद हुई घटना.” on YouTube

दाऊ बलराम हम जानत नाही कुछ भी, सिवाय इसके की राजनीति जरूरी है ।

kisan-ke-bhagwan-balramझाबुआपोस्ट@Ankit jain

बीजेपी किसान सम्मान यात्रा निकालने जा रही है । लेकिन इस यात्रा की शुरूआत में ही बीजेपी गलती कर गई । दाऊ बलराम उन्हें माफ करें । पर जो हल इस यात्रा का प्रतीक है, जो हल बलराम जी की पहचान है, उस हल को बीजेपी सही तरीके से उठाना भी नहीं जानती । इतनी बड़ी यात्रा के लिए आकड़े तो खुब जमा किए गए लेकिन रिसर्च टीम ये पता नहीं कर पाई कि दाऊ बलराम हल कैसे उठाते थे । अब ये प्रदेश आलाकमान की रिसर्च टीम की कमजोरी है, भाईसाहब लोगों की कोई गलती नहीं, सोशल मीडिया का दौर है कॉपी-पेस्ट मुख्य समस्या है, आगे से आएगा तो आगे बढ़ेंगे, और बढ़ाएंगे । वरना मामा के गुण गाएंगे ।

IMG_20180404_120655

 दरअसल पुरा वाक्या बुधवार को किसान सम्मान यात्रा के लिए आयोजित  प्रेस वार्ता का है ।  बीजेपी के भाईसाहब लोग दाऊ का हल लेकर फोटो खींचाने पहुंचे । पर ये क्या हल तो उलटा कांधे पर धर लिया । पूरे प्रदेश में इतनी बड़ी यात्रा निकाली जा रही है, गांव तक पहुंचेगी, मामा का संदेश बांटेगी, यात्रा में बताया जाएगा कि कृषि विकास दर 18 फीसदी तक पहुंच चुकी है, बिजली कंपनी वाले रोज किसानों के घर से टीवी, फ्रिज,बाइक उठाकर ले जा रहे हैं ,लेकिन किसानों को ये बताया जाएगा कि बिजली सब्सिडी के लिए 13 हजार 834 करोड़ रूपए का प्रावधान किया गया है । और कई आकड़ों से सजे हुए पर्चे भी किसानों के हाथों में पहुंचेगे । लेकिन इसके बावजूद भान नहीं रहा कि हल कैसे उठाते हैं ।

IMG_20180404_120541

दाऊ बलराम भगवान कृष्ण के बड़े भाई, जो शेषावतार,बलशाली माने जाते हैं, हल जिनके कांधे पर शोभा बढ़ाता है।  बल के प्रतीक हैं । बीजेपी दाऊ बलराम , उनके हल और ब्रज भूमि की रज को लेकर प्रदेश भर में किसान यात्रा निकाल रही है । 5 अप्रैल से 15 अप्रैल तक ये यात्रा प्रदेश के सभी विधानसभा में निकाली जाएगी । हर गांव तक यात्रा पहुंचेगी , यात्रा के दौरान मामा शिवराज की सरकार के किसान हितैषी कामों को गिनाया जाएगा । ताकि पिछले साल किसान आंदोलन और मंदसौर गोली कांड की कड़वी यादों को खुद भी भुलें और किसानों को भी उनसे दूर ले जाएं ।

इसी के चलते ये किसान सम्मान यात्रा निकलेगी ।

चुनावी साल है तो मान लिया जाना चाहिए कि यात्राओं का दौर शुरू हो चुका है ।  वैसे भी इसकी शुरूआत तो कांग्रेस की अनाधिकृत आदिवासी चेतना यात्रा से हो ही चुकी है । बीजेपी देर से मैदान में आई है ।

देर से आए इसके बावजुद दुरूस्त नहीं आए । खैर अब हम बता रहे हैं कि दाऊ बलराम हल कैसे उठाते थे, आगे कि यात्रा में भुल सुधार की गुंजाईश रहे । बाकी तो जो है सो है ही ।

Watch “हम नहीं रहेंगे मौन ?” on YouTube

कांग्रेस के मौन धरना प्रदर्शन, हमने जो देखा वो कहा.

सहकारी समितियों के जरिये कड़कनाथ मुर्गे का उत्पादन बढ़ाने की कवायद, 21 समितियां पंजीकृत .

Phpto 1 29.3.18

झाबुआपोस्ट@अंकित जैन

कड़कनाथ मुर्गे के संरक्षण और उत्पादन के लिए सहकारी समितियों के जरिये कवादय की जा रही है । झाबुआ की 21 समितियां झाबुआ के प्रसिद्ध कड़कनाथ प्रजाति की मुर्गों का उत्पादन करेगी । उत्पादन के बाद सबसे बड़ी समस्या बाजार की आती है, सहकारिता विभाग ने इसके लिए एक मोबाईल एप लांच किया है, जिसके माध्यम से अब कड़कनाथ अब कहीं से भी आर्डर किया जा सकता है । इसका फायदा ये होगा कि डिजिटल होते इस दौर में समितियों को अपने ग्राहकों के लिए ज्यादा मशक्कत नहीं करनी पड़ेगी, एप के जरिये ग्राहक उन तक पहुंचेगे ।

गुरूवार को सहकारिता विभाग की आयुक्त रेणु पंत खुद झाबुआ पहुंची थी , जहां उन्होंने कड़कनाथ मुर्गीपालन संरक्षण प्रशिक्षण कार्यक्रम में हिस्सा लिया ।  पंत ने 21 सहकारी समितियों के सदस्यों को विभाग की योजना के बारे में विस्तार से समझाया ।   सहकारिता आयुक्त रेणु पंत ने कहा कि झाबुआ का कड़कनाथ जग प्रसिद्ध है । इन समितियों के माध्यम से इसकी उपलब्धता को बढ़ाए जाने का प्रयास किया जा रहा है । उन्होंने कि विभाग के इस प्रोजेक्ट से ग्रामीण क्षेत्र में स्वरोजगार बढेगा और पलायन जैसी समस्या में कमी आएगी ।

सीसीबी बैंक अध्यक्ष गौरसिंह वसुनिया ने कहा कि दो सहकारी समितियों को बैंक द्वारा वित्तीय सहायता भी प्रदान की गई है, दोनों समितियां अच्छा काम कर रही हैं । वसुनिया ने कहा कि झाबुआ का कड़कनाथ विश्व पटल पर पहुंचे इसके लिए बैंक अपनी महती भूमिका निभाएगी, साथ प्रदेश के मुखिया शिवराज सिंह और प्रभारी मंत्री विश्वास सारंग चाहते हैं कड़कनाथ का उत्पादन बढ़ने के साथ-साथ यहां लोगों के इसके जरिये रोजगार मिल सके ।

जिला कलेक्टर श्री आषीष सक्सेना ने कि प्रशासन स्वयं सहायता समूह के माध्यम से भी इस योजना कड़कनाथ चूजों को पालन करने के लिए प्रोत्साहित किया जाएगा । समूह 25 हजार की बचत करके, 25 हजार रूपए की सहयता शासन की ओर से  मिलेगी । कलेक्टर ने कहा कि समिति के सदस्यों को मुख्यमंत्री आर्थिक कल्याण योजना और मुख्यमंत्री स्वरोजगार योजना के माध्यम से भी ऋण मुहैया करवाया जाएगा

मुर्गीपालकों के प्रषिक्षण कार्यक्रम मे संयुक्त आयुक्त सहकारिता इंदौर , प्रेम द्विवेदी उपायुक्त सहकारिता भोपाल, उपायुक्त सहकारिता झाबुआ भारती शेखावत , मुख्य कार्यपालन अधिकारी पी.एन.यादव, उप संचालक पशु चिकित्सा डॉ. डावर एवं डॉ. अमरसिंह दिवाकर द्वारा भी प्रषिक्षण में उपस्थित सदस्यों को विस्तार से जानकारी दी गई ।

पढ़ने के लिए उम्र नहीं जज्बा देखा जाता है, और इन्होंने कर दिखाया !

IMG-20180328-WA0013झाबुआपोस्ट । अंकित जैन ।

ना उम्र की सीमा हो ना जन्म का बंधन….गीत ये पक्तियां आपने सुनी भी होगी और गुनगुनाई भी होंगी । लेकिन हम तो कहते हैं कि पढ़ने के लिए भी उम्र की कोई सीमा नहीं होती । पढ़ाई के लिए उम्र नहीं जज्बा होना चाहिए । ऐसा ही कुछ कर दिखाया जिले के हजारों नवसाक्षरों ने आज । बुधवार को साक्षर भारत अभियान के तहत नवसाक्षरों की परीक्षा आयोजित की गई थी । जिसमें महिला-पुरूषों, बुजुर्गों समेत हजारों लोगों ने आखर ज्ञान की परीक्षा दी । साक्षर भारत अभियान की प्रभारी डिप्टी कलेक्टर प्रीति संघवी के मुताबिक जिले में 36500 लोगों को नवसाक्षर बनाने का लक्ष्य रखा गया था । हम इसके  करीब पहुंचने में कामयाब हुए हैं । बुधवार को आयोजित परीक्षा में करीब 30 हजार नवसाक्षर सम्मिलित हुए ।

झकेला परीक्षा केन्द्र पर कलेक्टर आशीष सक्सेना और जिला पंचायत सीईओ जमुना भिड़े निरीक्षण के लिए पहुंचे,  उन्होंने ग्रामीणों से चर्चा की । कलेक्टर ने एक  ग्रामीण बुजुर्ग से जब सवाल किया कि इस उम्र पढ़ना क्यों जरूरी लगा तो, बुजुर्ग ने जवाब दिया कि पढ़-लिखकर हिसाब कर लेंगे ताकि वे ठगी और धोखाधड़ी से बच जाएं । कई बार बच्चे घर के हिसाब में गच्चा दे जाते हैं , लेकिन अब वे ऐसा नहीं कर पाएँगे ।

चर्चा के दौरान कलेक्टर आशीष सक्सेना ने ग्रामीणों को दहेज-दापा प्रथा प्रतिबंध, बालिका को कम से कम 12 वर्ष तक पढ़ाने और 18 वर्ष के पहले विवाह ने करने की शपथ भी दिलाई ।

साक्षर भारत अभियान के तहत गांव-गांव में अनपढ़ बुजुर्ग,महिला और पुरूषों को प्रेरकों के माध्यम से साक्षर किया जा रहा था, जिसके बाद आज जिले के चयनित गांवों में नवसाक्षरों की परीक्षा आयोजित की गई ।     निरीक्षण के दौरान कलेक्टर आशीष सक्सेना, सीईओ जमुना भिड़े के साथ, प्रभारी अधिकारी साक्षर भारत अभियान प्रीति संघवी , तहसीलदार शक्ति सिंह चौहान सहित प्रशासनिक अधिकारी मौजूद थे ।

मच्छर को पकड़कर मगरमच्छ छोड़ रहे !

झाबुआपोस्ट @ankit jain

सांसद कांतिलाल भूरिया  ने अपराधियों खासकर महिला अपराध से जुड़े मामलों के आरोपियों के जुलूस  निकालने को लेकर कहा कि अपराधियों को सजा मिलने चाहिए, कानून अपना काम करेगा । लेकिन भूरिया ने इसके साथ ही प्रदेश सरकार की कथनी और करनी में अंतर पर सवाल खड़ा किया है । भूरिया ने कहा कि शिवराज सिंह महिलाओं की सुरक्षा की बात करते हैं लेकिन उनके मंत्री अब तक पद पर बने हुए हैं । भूरिया ने रामपाल सिंह को बर्खास्त करने की मांग की है । क्या कुछ भूरिया ने आप भी सुनिए ।